KPO Full Form

आज के इस पोस्ट में हम KPO Full Form के बारे में बात करेंगे। हम जानेंगे कि KPO जॉब क्या है और केपीओ ( KPO ) का क्या अर्थ है। हम ये भी जानेंगे कि बीपीओ और केपीओ में क्या अंतर है। इन सब के बारे में हम विस्तार पूर्वक आपको जानकारी देंगे।

आपको इतना तो पता चल ही गया होगा कि KPO एक तरह का जॉब होता है। अब इस जॉब में लोग क्या करते है, ये हम बाद में देखेंगे। किसी भी जॉब को पाने के लिए आपको उसके बारे में हमेशा जान लेना चाहिए। इससे आपको इंटरव्यू देते समय काफी मदद मिल जाती है। तो चलिए, बिना देरी के हम शुरू करते है और जानते है KPO Full Form

KPO Full Form

KPO का फुल फॉर्म नॉलेज प्रोसेस आउटसोर्सिंग होता है। KPO एक तरह का जॉब है जिसमे ज्ञान और सूचना संबंधी कार्य किये जाते है। इसके लिए आपको बाजार या किसी कंपनी के डाटा की जानकारी इकठ्ठा करके उसके ऊपर रिसर्च करना होता है।

KPO के नाम से ही हमे पता चलता है कि इसका मतलब नॉलेज प्रोसेस आउटसोर्सिंग होता है। यानी कि कोई भी एक बिज़नेस जब अपने प्रोसेस को आउटसोर्स करता है, तब जाकर इस तरह के जॉब करने वालो उन्हें जरुरत होती है।

KPO Full Form

यहाँ तक तो हमने संछिप्त रूप से ये तो समझ लिया कि केपीओ का फुल फॉर्म क्या होता है और इसका काम कैसा होता है। घबराइए मत, हम आगे इसपर विस्तार से बात करने वाले है। आपको कम से कम इतनी जानकारी जरूर दे देंगे जिसके बाद आप कभी भी KPO Full Form नाम सुनकर परेशान नहीं होंगे।

Outsourcing किसे कहते है?

अभी तक आपने जितना भी पढ़ा उन सब बातों में एक शब्द जो आपके दिमाग में घूम रहा होगा, वो है आउटसोर्सिंग। अब मैं आपको बताऊंगा कि आउटसोर्सिंग क्या है।

जब कोई एक कंपनी किसी दूसरे कंपनी से अपना काम करवाती है, तो हम उसे आउटसोर्सिंग कहते है। उदहारण के तौर पर कंपनी A एक मोबाइल फोन बेचने वाली कंपनी है, उनके पास दुनियाभर में खुद के मोबाइल बेचने की दूकान है। लेकिन यहाँ पर उन्होंने मोबाइल फ़ोन सर्विस करने के लिए कंपनी B के लोगों को काम पर लगा रखा है। इस तरीके से कंपनी A में मोबाइल भी बिकती है और वहां मोबाइल खराब होने पर सर्विस भी मिल जाती है। तो ग्राहक को जब भी मोबाइल खरीदना होगा तो वो कंपनी A के पास ही जाएगा क्यूंकि वहां सबकुछ हो जाता है।

ध्यान रखें, ग्राहक को जब अपने मोबाइल की सर्विस भी करवानी होगी तब भी वह कंपनी A के पास ही जाएगा क्यूंकि उनको कंपनी B के बारे में कुछ पता ही नहीं है। इस तरीके से जब एक कंपनी अपने किसी काम को करवाने के दूसरे कंपनी को जॉब पर रखती है, तो उसे हम आउटसोर्सिंग कहते है।

KPO का क्या अर्थ है?

अब आप KPO के फुल फॉर्म से ही पता लगा लेंगे कि KPO का अर्थ क्या है। K मतलब नॉलेज, P मतलब प्रोसेस और O मतलब आउटसोर्सिंग। यानी की KPO का अर्थ किसी कंपनी के किसी भी प्रकार के ज्ञान (Knowledge) को प्रोसेस करना होता है।

अब इसमें डाटा को पढ़ना हो, या फिर डाटा इकठ्ठा करके उससे जानकारी निकालना हो, सब कुछ एक KPO एग्जीक्यूटिव (Executive) ही करता है। इनका काम बस ये है कि किसी भी कंपनी के बारे में नॉलेज इकठ्ठा करके उसका इस्तेमाल करना, यहाँ पर नॉलेज को आप डाटा से जोड़ सकते है। अगर आपको भी किसी व्यक्ति के बारे में नॉलेज इकठ्ठा करना होगा तो आप उसके बारे में सारा डाटा निकालेंगे, जैसे वो क्या करता है, कहाँ रहता है, क्या खाता है, इत्यादि।

SOG Full Form in Police in Hindi

उम्मीद है कि अब आपको KPO के बारे में हर चीज़ पता चल गयी होगी। आशा करता हूँ कि आपको अब इसमें दिक्कत नहीं आएगी।

निष्कर्ष

अगर आपको मेरा ये लेख KPO Full Form पसंद आया तो आप निचे कमेंट करके हमे बता सकते है। इस तरह के और फुल फॉर्म के बारे में जानने के लिए आप हमारे फुल फॉर्म केटेगरी पर जा सकते है। अगर आपको कोई और लेख पढ़ना है तो हमारे वेबसाइट पर भी जा सकते है। आप हमे जरूर बताना कि आपको KPO Full Form कैसा लगा।

Print Friendly, PDF & Email

1 thought on “KPO Full Form”

Leave a Comment